जॉन अब्राहम ही नहीं बल्कि ये बॉलीवुड स्टार्स भी सबसे बड़े ‘नास्तिक’ हैं, आखिरी नाम चौंका देगा

बॉलीवुड में ऐसे कई सितारे हैं जो अपने किसी भी अच्छे काम की शुरूआत या अपने खास दिन की शुरूआत पूजा पाठ करके या मंदिर, दरगाह के दर्शन करने के बाद करते हैं। ऐश्वर्या अभिषेक से लेकर अमिताभ बच्चन हों या दीपिका पादुकोण बॉलीवुड के सितारे आम तौर पर अपनी किसी भी फिल्म की रिलीज़ के पहले या अपने जन्मदिन के खास मौके पर सिद्धी विनायक मंदिर मं बप्पा के दरबार में मत्था टेकने पहुंचते हैं। वहीं कैटरीना कैफ, हों या शाहरूख खान कई सितारे अजमेर के दरगाह में भी चादर चढ़ाने और दुआ मांगने पहुंचते हैं।

लेकिन इन सभी आस्तिक सितारों के बीच इस इंडस्ट्री में ऐसे भी कई सितारे हैं जो पूजा पाठ या किसी भी भगवान पर यकीन नही करते।इन्हे में से एक नाम कमल हैं का भी हैं ।जी हाँ दोस्तों इतने बड़े कालकर कमल हसन ईश्वर में नहीं मानते हैं ।एक इंटरव्यू के दौरान कमल हसन ने कहा था की उन्होंने अपने एक इंटरव्यू में कहा था, हर धर्म का एक मंच होता है लेकिन एक नास्तिक का नहीं, मेरी फिल्में ही मेरा मंच हैं।

आप की जानकरी के लिए बता दे की सिर्फ कमल हसन ही नहीं बल्कि उनकी बेटी अक्षरा भी नास्तिक और वह किसी भी तरह के धर्म को नहीं मानती हैं।एक बार अक्षरा ने ट्वीटर पर बुद्धिज्म को फॉलो करने का ट्वीट किया जिसके बाद उनके पिता कमल हैं ने वापस ट्वीट करते हुए कहा की क्या उन्होंने अपना धर्म बदल लिया है? ऐसे में अक्षरा ने जवाब दिया था, नहीं बापू जी मैंने अपना धर्म नहीं बदला है मैं अभी भी नास्तिक हूं। हालांकि मैं बौद्ध धर्म से सहमत हूं क्योंकि ये जीवन जीने का एक तरीका है और एक व्यक्तिगत जीवन शैली है। लेकिन दोस्तों सिर्फ अक्षरा ही नहीं बॉलीवुड में और भी बहुत से बड़े बड़े कालकर हैं जो की भगवान में आस्था या विश्वास नहीं रखते हैं ।तो दोस्तों आज हम आप को बॉलीवुड के उन 4 सितारों के बारे में बतायेंगे जो की नास्तिक हैं ।

जावेद अख्तर


काफी साल पर एक इंटरव्यू के दौरान जावेद अख्तर ने कहा था की “धर्म आस्था पर टिका हुआ हैं ।धर्म आस्था पर सवाल नहीं कर सकते, बहस नहीं कर सकते। इसके पीछे कोई तर्क और वजह नहीं है फिर विश्वास और बेवकूफी में फर्क क्या है”।

फरहान अख्तर


जी हां फरहान भी पिता जवेद की तरह नास्तिक हैं और वह भी धर्म पर विश्वास है रखते हैं ।

जॉन अब्राहम


एक इंटरव्यू के दौरान जॉन ने बताया था की वह जब 4 साल के थे उस दौरान उनके पिता ने उन्हें समझाया था की एक नेक और साफ़ दिल इंसान बनने के लिए पूजा पथ वाली जगह जाना कोई जरूरी नहीं हैं इसी वजह से जॉन एक ऐसे आध्यात्मिक इंसान की तरह रहे जो की किसी भी धर्म को नहीं मानता हैं ।

रजत कपूर


रजत ने एक इंटरव्यू में खा था की मुझे लगता हैं की इंसानो ने भगवान का अवधारण किया हैं ।रजत ने इतना भी कह दिया था की भवन ने इंसानो को दुःख ही पहुंचाया हैं क्यूंकि इंसान भगवान के नाम से काफी सालो से युद्ध करता आ रहा हैं और इससे काफी लोग मरे भी हैं ।

Tadka24.Com © 2018